स्मृति तथा विस्मृति [ Memory and Forgetting in Hindi ]

दोस्तों जैसा कि आपको पता ही है कि हमारी वेबसाइट CTET STUDY MATERIAL, CTET और अन्य शिक्षक सम्बन्धी परीक्षाओं का study material और notes देती रहती है।

आज हम आपको स्मृति एवं विस्मृति से सम्बंधित जानकारी दे रहे हैं। आप इसे पढ़कर काफी कुछ सीख सकते हैं।

स्मृति का अर्थ एवं परिभाषा, स्मृति के अंग, अच्छी स्मृति की विशेषताएं, स्मृति के प्रकार, विस्मृति या विस्मरण की परिभाषा, विस्मरण के कारण, स्मरण एवं विस्मरण का शैक्षिक महत्व।
स्मृति एवं विस्मृति

स्मृति तथा विस्मृति

स्मृति का अर्थ एवं परिभाषा, स्मृति के अंग, अच्छी स्मृति की विशेषताएं, स्मृति के प्रकार, विस्मृति या विस्मरण की परिभाषा, विस्मरण के कारण, स्मरण एवं विस्मरण का शैक्षिक महत्व।

स्मृति की परिभाषा ( Definition of Memory )

वुडवर्थ के शब्दों में-

पहले सीखी जा चुकी बात का स्मरण करना ही स्मृति है।
वुडवर्थ
Tweet

स्टाउट के शब्दों में स्मृति की परिभाषा-

स्मृति एक आदर्श पुनरावृत्ति है।

रायबर्न के शब्दों में स्मृति की परिभाषा-

अपने अनुभवों को संचित रखने और उनको प्राप्त करने के कुछ समय बाद चेतना के क्षेत्र में लाने की जो शक्ति हमे होती है, उसी को स्मृति कहते हैं।
रायबर्न
Tweet

स्मृति के अंग

वुडवर्थ के अनुसार स्मरण प्रक्रिया के चार अंग होते हैं-

1- सीखना या अधिगम (Learning)
2- धारण (Retention)
3- पुनःस्मरण (Recall)
4- पहचान (Recognition)

अच्छी स्मृति की विशेषताएं

स्टाउट न अच्छी स्मृति के कुछ लक्षण बताए हैं। जो कि इस प्रकार हैं।

  1. शीघ्र सीखना या अधिगम।
  2. उत्तम धारण शक्ति।
  3. शीघ्र पुनः स्मरण।
  4. शीघ्र एवं स्पष्ट पहचान।
  5. अनावश्यक बातों का विस्मरण।
  6. उपादेयता।
Also Read -  Free Download UPTET Notes PDF in Hindi - Complete UPTET Study Material

स्मृति के प्रकार (Kinds of Memory)

स्मृति के प्रकार निम्न हैं-

1- तात्कालिक स्मृति

2- स्थायी स्मृति

3- व्यक्तिगत स्मृति

4- अव्यक्तिगत स्मृति

5- सक्रिय स्मृति

6- निष्क्रिय स्मृति

7- यांत्रिक स्मृति

8- तार्किक स्मृति

9- आदत स्मृति

10- इन्द्रिय अनुभव स्मृति

11- शारीरिक स्मृति

12- वास्तविक स्मृति

विस्मृति का अर्थ एवं परिभाषा

विस्मरण एक निष्क्रिय मानसिक प्रकिया है। सीखने के बाद जैसे-जैसे समय व्यतीत होता है, स्मृति चिन्ह धुंधले पड़ते जाते हैं और हम भूल जाते हैं।

सीखी हुई बात को धारण और पुनः स्मरण करने में असफल होना ही विस्मृति है । शिक्षा में स्मृति का महत्वपूर्ण स्थान है किंतु साथ ही विस्मृति का अध्ययन करना भी आवश्यक है। क्योंकि विस्मृति स्मृति का हेतु है।

विस्मृति की परिभाषा

मन के शब्दों में विस्मृति की परिभाषा-

सीखी गयी बातों को धारण करने और पुनः स्मरणकरने की असफलता को स्मृति कहते हैं ।

ड्रेवर के शब्दों में विस्मृति की परिभाषा

विस्मृति का अर्थ है किसी समय प्रयास करने पर भी किसी पूर्व अनुभव का स्मरणकरने या पहले सीखे हुए किसी क्रिया को करने में असफलता ।

विस्मृति के कारण (causes of forgetting)

विस्मृति के दो कारण हैं :

  1. सैद्धांतिक कारण (theoretical causes)
  2. सामान्य कारण (General Causes)
Also Read -  अधिगम के नियम - थार्नडाइक के अधिगम के नियम

विस्मृति के सैद्धांतिक कारण

इसके सैद्धांतिक कारण निम्नलिखित हैं –

1- अनाभ्यास का सिद्धांत

2- दमन का सिद्धांत

3- बाधा का सिद्धांत

विस्मृति के सामान्य कारण

इस के सामान्य कारण निम्नलिखित है:

1- विषय सामग्री का स्वरूप

2- सीखने की मात्रा

3- सीखने की दोषपूर्ण विधि

4- रुचि और ध्यान का अभाव

5- सीखने वाले की आयु एवं बुद्धि।

6- पुनरावृत्ति का आभाव।

7- मस्तिष्क की चोट।

8- मानसिक आघात।

9- मानसिक द्वंद।

10- मादक वस्तुओं का सेवन।

11- मानसिक रोग।

स्मरण एवं विस्मरण का शैक्षिक महत्व

स्मरण का महत्व

शिक्षा की प्रमुख प्रक्रिया में अधिगम के लिए स्मरण क्रिया के साथ विस्मरण का भी महत्व है।

स्मरण करने की विभिन्न विधियों का उल्लेख पहले किया जा चुका है। इन विधियों की उपयोगिता एवं शैक्षिक महत्व है यह है कि इनके द्वारा शिक्षार्थी को स्मरण करने के सरल ढंग का ज्ञान हो जाता है। और किसी विषय को स्मरण करने पर समय व श्रम की बचत होती है।

Also Read -  गार्डनर का बहुबुद्धि सिद्धांत

विस्मरण का महत्व

विनय मनोवैज्ञानिक को नहीं विस्मरण की क्रिया पर अनेक अध्ययन एवं प्रयोग किए हैं शिक्षा में विस्मरण के महत्व पर कॉलिंस और ड्रेवर ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा है-

यह सत्य है कि कुछ विस्मरण स्मरण के विपरीत है , पर व्यापारिक दृष्टिकोण से विस्मरण लगभग उतना ही लाभप्रद है जितना कि स्मरण।

Tags- स्मृति का अर्थ एवं परिभाषा, स्मृति के अंग, अच्छी स्मृति की विशेषताएं, स्मृति के प्रकार, विस्मृति या विस्मरण की परिभाषा, विस्मरण के कारण, स्मरण एवं विस्मरण का शैक्षिक महत्व।

Leave a Reply

Scroll to Top